Jan 22, 2020 · गीत
Reading time: 2 minutes

अब बेटी कहां सुरक्षित हैं

बेटी कहां सुरक्षित है*=🤺✍🏻 ( *जिगर में आग है तो शेयर करो*)
**************
शिवानी के हत्यारों को, क्या फांसी दे पाओगे ?
या उसके हत्यारों का, एनकाउंटर करवाओ गे??
या फिर न्याय के लिए ,शिवानी चुप चुप रोयेगी ?
और तुम्हारी मानसिकता, जातिवाद पे सोएगी??
बेटी- बेटी में फर्क नहीं तो, आओ सड़क पर आ जाओ !
और शिवानी के हत्यारों को, फांसी पर चढवाओ।।
तभी लगेगा हमें ऐसा कि ,न्याय बराबर करते हो।
बेटी- बेटी में अब कोई ,फर्क नहीं तुम करते हो ।।
तो आओ सड़कों पर आओ, थोड़ा हल्ला करते हैं ।
शिवानी के हत्यारों को, मिलकर नंगा करते हैं ।।
क्यों चुप बैठी हुई मीडिया, क्यों चुप जनता बैठी है?
शिवानी के हत्यारों पर, जनता क्यूं मूक बन बैठी है ??
जैसे निर्भया और प्रियंका ,दामिनी के लिए निकले थे।
शासन और प्रशासन से, मिलकर सारे झगड़े थे।।
तो आओ शिवानी के लिए भी, मिलकर लड़ाई लड़ते हैं ।
आओ बेटी के सम्मान में, घर से आज निकलते हैं ।।
फांसी दे दो इन दरिंदों को, या फिर एनकाउंटर कर दो।
शिवानी सिसक सिसक कह रही, मेरे साथ न्याय कर दो ।।
क्या तुम इन हत्यारों को, फांसी पर चढ़बाओगे ?
या ढूंढ ढूंढ कर इन बहसीयों का, एनकाउंटर कर पाओगे??
अब तुम्हारे न्याय की, हम भी प्रतीक्षा करते हैं।
बहसी दरिंदे बचते हैं, या फिर वो कातिल मरते हैं।।
कहां सो गए संगठन सारे ,कहां मिशननरी सोए हैं?
अब तो घर से बाहर निकलो, कितने अपने रोए हैं।।
अब तुम्हारी जिम्मेदारी, न्याय दिलाना बेटी को।
छू ना पाए जो दरिंदा ,अब बेटी की चोटी को।।
बातों से ना काम चलेगा, इंकलाब करना होगा।
बेटी के सम्मान में, लड़ना होगा मरना होगा ।।
तो आओ *”सागर”* बाहर निकलो, लेकर सारी जनता को।
बेटी न्याय मांग रही है, कह दो सारी जनता को।।
=======9149087291
*बेख़ौफ़ शायर/ गीतकार/ लेखक/ चिंतक* ….
डॉ. नरेश कुमार “सागर”
*प्रदेश अध्यक्ष -कलमकार संघ* (एम.एस.पी.)

2 Comments · 170 Views
Naresh Sagar
Naresh Sagar
118 Posts · 11.3k Views
Follow 13 Followers
Hello! i am naresh sagar. I am an international writer.I am write my poetry in... View full profile
You may also like: