Sep 19, 2017 · गीत

आप आये हमें एक निधि मिल गई।

स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।

आप आये हमें एक निधि मिल गई।
आसमाँ से ज़मीं तक कली खिल गई।।
दिल में अरमां जगें आस जागे बहुत।
आप आये हमें हर खुशी मिल गई।।

स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।

प्यार की ये घड़ी कितनी रंगीन है।
आपसे मिल के दिल को भी तस्कीन है।।
दिल दिवाना हुआ आपके प्यार में।
मामला दिल का भी अब तो संगीन है।।

स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।

चाँद से अब कहो वो न आये इधर।
उसकी मर्जी है वो चाहे जाये जिधर।।
मेरा महबूब मेरा सनम आ गया।
चाँद हैरत में है अब मैं जाऊँ किधर।।

स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।

हाँ मैं “वासिफ” हूँ मुझमें हुनर कुछ नहीं।
ऐसी बातों का मुझपे असर कुछ नहीं।।
है सिफ़त आप में आप आला भी हैं।
मैं मुन्नवर हूँ मुझको ख़बर कुछ नहीं।।

स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।

3467 Views
You may also like: