Skip to content

***आज बस आज **

अजीत कुमार तलवार

अजीत कुमार तलवार

कविता

February 6, 2017

आज यह वादा करो
आज यह इरादा करो
आज में ही जीना है
आज में ही मरना है
आज बस आज है
आज के बाद सब बर्बाद है ??
आज को समेट लो
आज हंस लो
आज ही गा लो
आज हम साथं हैं
आज के बाद क्या पता कहाँ हैं ??
आज को वर्तमान कहते हैं
आज के बाद को भविष्य
आज से पहले भूत
आज जो भी है,,बस सब आज है ??
आज अगर खुश हो
आज अगर दुखी हो
आज सच यार आज है
आज ही पाना है
आज ही तो खोना है
आज इसी लिए तो खास है

“अजीत” जी ले आज
कल किसने देखा…सच सब बर्बाद है ??

अजीत तलवार
मेरठ

Share this:
Author
अजीत कुमार तलवार
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, पूर्वज : अमृतसर से है, और वर्तमान में मेरठ से हूँ, कविता, शायरी, गायन, चित्रकारी की रूचि है , EMAIL : talwarajit3@gmail.com, talwarajeet19620302@gmail.com. Whatsapp and Contact Number ::: 7599235906
Recommended for you