आज किसी की जुल्फे छु के गुजरा हु,.....

आज किसी की जुल्फे छु के गुजरा हु,
जैसे सावन की हवा ले के गुजरा हु,
खुद के सम्हाल लो कदम बहेक न जाओ,
मैं पुरे मधुशाले का नसा ले के गुजरा हु।
(अवनीश कुमार)

Like Comment 0
Views 9

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share