आजादी सबको प्यारी

आजादी सबको प्यारी
~~~~~~~~~~~~~~
हम है पंछी इस गगन के
पिंजरबद्द न उड़ पाएंगे ,
पेड़ों की टहनियों से टकराकर
पंख भी टूट जाएंगे ।।

बड़े थे अरमान की उड़ते
नीले आसमान के गगन को छूते ,
लाल सुनहरे किरण सी चोच खोल
चुगते लाल – लाल अनार के दाने ।।

तिनके ना दो चाहे टहनियों के
आश्रय को चाहे ले डालो ,
लेकिन पंख दिए हैं तो
मेरी उड़ान में रुकावट ना डालो !!!

Like 10 Comment 5
Views 113

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share