कविता · Reading time: 1 minute

आओ मिलकर करें इबादत

देखें एक गीत कोरोना वारियर्स के नाम

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

आओ मिलकर करें इबादत उनकी भी खुशहाली की।

भिड़े समर में कोरोना से,फिक्र नहीं घरवाली की।

चिंता नहीं जिन्हें बच्चों की,

निर्भय कर्म निभाते हैं,

और दूसरों की सेवा में

दिन अरु रात लगाते हैं।

परसेवा परसुख मकसद है,फ़िकर न कोई गाली की।
आओ मिलकर करें इबादत उनकी भी खुशहाली की।

थूक रहें हैं लोग उन्हीं पर,

जो जीवन के दाता हैं।

कोरोना का जहर काटने,

वे ही बने विधाता हैं।

बांट रहे नित औरों को ही,रोटी अपनी थाली की।।
आओ मिलकर करें इबादत उनकी भी खुशहाली की।

33 Views
Like
You may also like:
Loading...