आए जिनको देश मे (दोहा मुक्तक)

आए जिनको देश मे,…..घोटाले ही रास !
ऐसों से यह देश भी, कभी न रखता आस !!
किया जिन्होने आजतक,जमकर भ्रष्टाचार,
वे ही करने लग रहे, मोदी का उपहास !!
रमेश शर्मा

Like 1 Comment 0
Views 6

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share