Skip to content

आइना

पं.संजीव शुक्ल सचिन

पं.संजीव शुक्ल सचिन

हाइकु

November 30, 2017

आईना (हाइकु)
……. …… ……..

क्षमता का अपमान
अयोग्य को सम्मान
जातीय आरक्षण।

बिलखती जनता
भ्रष्ट व्यवस्था
मौकापरस्त राजनीति।

ऊंची दुकान
फीके पकवान
वर्तमान राजनेता।

घर का खाना
मालिक का बजाना
बेबस जनता।

शिक्षा है बेकार
सुख सुविधा का आधार
जाती प्रमाणपत्र।

धर्म का आधार
बहशीपन का ब्यापार
आतंकवाद।

चेहरे की मुस्कान
सुख का आधार
सुखी परिवार।

अंधभक्ति का प्रचार
धर्म की दुकान
पाखण्डी बाबा।

भविष्य का लुभावा
वर्तमान से छलावा
देश की सरकार।

सत्य से परहेज़
हकीकत से गुरेज
बिकाउ मिडिया।

आज का प्यार
चाईना का समान
तलाक।

©®पं.संजीव शुक्ल “सचिन”

Share this:
Author
पं.संजीव शुक्ल सचिन
D/O/B- 07/01/1976 मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।
Recommended for you