.
Skip to content

आँसू

Dr Archana Gupta

Dr Archana Gupta

दोहे

September 6, 2017

आँसू मन का कर गए, सीधा सा उपचार
खारे पानी मे बहे, मन के सभी विकार

गम हो या कोई खुशी, आँसू बहें जरूर
दिल से भी बीमारियां, ये रखते हैं दूर

खारे खारे आंसुओं , की मीठी ये बात
इनमें सदा घुले हुए , रहते हैं जज्बात

कोई गम की बात जब, देती सीना चीर
तब आँसू बन कर दवा, हर लेते हैं पीर

पत्थर सा दिल हो गया , सूख गये जब नैन
फूटेगा दरिया कभी, तभी मिलेगा चैन

डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद (उ प्र)
06-09-2017

Author
Dr Archana Gupta
Co-Founder and President, Sahityapedia.com जन्मतिथि- 15 जून शिक्षा- एम एस सी (भौतिक शास्त्र), एम एड (गोल्ड मेडलिस्ट), पी एचडी संप्रति- प्रकाशित कृतियाँ- साझा संकलन गीतिकालोक, अधूरा मुक्तक(काव्य संकलन), विहग प्रीति के (साझा मुक्तक संग्रह), काव्योदय (ग़ज़ल संग्रह)प्रथम एवं द्वितीय प्रमुख... Read more
Recommended Posts
** आँसू **
Neelam Ji कविता Jun 15, 2017
रिश्ता आँसू का नयनों से गहरा , पलकें देती आँसू का पहरा । बात कोई जो दिल को छू जाए , बहते आँसू तोड़ के... Read more
आँसू
आँसू (गीत) यूँ ना बहाओ आँसू दरिया में आ लग जायेगी तुमने बहाया आँसू नदियाँ भी शरमा जायेगी मोती सा कीमती हर आँसू व्यर्थ ना... Read more
*आँसू*
जब भी आँख से बहते आँसू । दिल की व्यथा कहते आँसू ।। कभी दर्द में बहते आँसू । तो कभी ख़ुशी में बहते आँसू... Read more
कविता:??●आँसू●??
आँसू दर्द का हिस्सा,सुख का आधार भी। आँसू मर्ज़ का मोती,अर्ज़ का इस्तिहार भी। आँसू सावन का गान,मन का दीदर भी। आँसू दिल की महिमा,आरज़ू... Read more