अवरोध

अपना अवरोध ना बन
तू आगे बढ़
युद्ध कर

अपने विकार
को समाप्त कर
बस युद्ध कर

जीवन एक
उपहार है
यूँ न उसे
नष्ट कर
तू आगे बढ़
तू युद्ध कर …

– प्रोफ़ेसर दिनेश गुप्ता (आनन्द्श्री )

Like 2 Comment 0
Views 1

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing