" अल्फ़ाज़ "

चमकते चेहरे को देख ,
हमारे पास दौड़ आज वो ।
टुटे दिल को देख ,
बच कर निकल गए वो ।
हम तो सोचते रह गए ,
मरहम लेने गए है या कभी लौट कर नहीं आएंगे वो !

– ज्योति

Like 5 Comment 0
Views 9

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share