Skip to content

अभी बाकी है

Kapil Kumar

Kapil Kumar

लघु कथा

October 11, 2016

अभी बाकी है……………….

हिन्दुस्तां को बुलंदियों पर ले जाना अभी बाकी है
मयम्मार का पैगाम कराची पहुचाना अभी बाकी है
**************************************
कैसे चैन से सो सकता है अभी हिन्दुस्तां का नोजवां
मुम्बई के शहीदों को इंसाफ दिलाना अभी बाकी है
***************************************
पाकिस्तान की पनाह में छिपे हैं जो हाफिज अजहर
सर उनका काट कर ,हिन्दुस्तां लाना अभी बाकी है
***************************************
छू नही सकता माँ भारती का दामन अब कोई
बात ये ठीक से दुश्मन को समझाना अभी बाकी है
****************************************
जान ले संसार भी अब हिन्द की बाजुओं का दम
जूनून ए हिन्द भी संसार को दिखलाना अभी बाकी है
*****************************************
कपिल कुमार
11/10/2016

Author
Kapil Kumar
From Belgium
Recommended Posts
जीवन एक संघर्ष
कई जीत बाकी है कई हार बाकी है अभी जीवन के सार बाकी है अभी तो निकले ही घर से लक्ष्य को पाने को ये... Read more
इस शहर में क़याम बाकी है
इस शहर में क़याम बाकी है कुछ अधूरा सा काम बाकी है गुफ़्तगू सबसे हो गयी मेरी सिर्फ उनका सलाम बाकी है इक शजर पे... Read more
मुक्तक
दिन गुजर गया है मगर शाम बाकी है! तेरी #आरजू का पैगाम बाकी है! सैलाब आ गया है यादों का लेकिन, तेरे दर्द का अभी... Read more
गज़ल :-- जो आज भी उसमें गुमान बाकी है ॥
ग़ज़ल :-- जो आज भी उसमें गुमान बाकी है !! बहर :-- 2212 2212 1222 जो आज भी उसमें गुमान बाकी है ।, नातों का... Read more