Skip to content

साहित्यापीडिया पर अपनी हिंदी साहित्यिक पुस्तकों का विवरण प्रकाशित करें

Sahityapedia

Sahityapedia

Announcement

August 27, 2016

साहित्य पुस्तकें

साहित्यपीडिया में हम साहित्यिक पुस्तकों का अनुभाग शुरू कर रहे हैं। इस अनुभाग में साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने वाले साहित्यकारों की पुस्तकों के बारे में जानकारियां प्रकाशित होंगी।

अगर आपकी कोई हिंदी साहित्यिक पुस्तक प्रकाशित है एवं आप साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करते हैं तो आप अपनी पुस्तक का विवरण हमें भेज सकते हैं और हम उस विवरण को साहित्यपीडिया में प्रकाशित करेंगे।

कौन साहित्यकार पुस्तक विवरण भेज सकते हैं?

  • साहित्यकार का साहित्यपीडिया पर अकाउंट होना चाहिए और कम से कम 10 रचनाएं साहित्यपीडिया पर प्रकाशित होनी चाहियें
  • साहित्यकार के कम से कम 100 “Total Page Views” होने चाहियें

पुस्तक विवरण भेजने के नियम-

  • पुस्तक विवरण हमें ईमेल करें- submit@sahityapedia.com
  • ईमेल का subject होना चाहिए “साहित्यिक पुस्तकें
  • ईमेल उसी Email ID से भेजें जो आपने अपने साहित्यपीडिया प्रोफाइल में लिखी है
  • ईमेल में अपना साहित्यपीडिया username लिखें अथवा अपने साहित्यपीडिया पेज का लिंक दें
  • एक से ज्यादा रचनाकारों की रचनाओं वाले संग्रह भी स्वीकार्य हैं
  • पुस्तक के कवर की अधिकतम 2 तस्वीरें ईमेल में संलग्न करें- तस्वीरें स्पष्ट एवं साफ़ होनी चाहियें
  • विवरण केवल हिंदी में लिखें जो देवनागिरी लिपि में टंकित हो
  • विवरण में पुस्तक का नाम, रचनाकार का नाम, लघु विवरण एवं अन्य जानकारियां जैसे प्रकाशन वर्ष, ISBN इत्यादि लिख सकते हैं
  • अगर पुस्तक का ISBN है तो जरूर लिखें
  • अगर पुस्तक किसी वेबसाइट जैसे Amazon, Flipkart इत्यादि पर उपलब्ध है तो उसका भी लिंक दे सकते हैं
  • इसके अलावा कोई और जानकारी भी दे सकते हैं

आपके द्वारा दी गयी जानकारियां समीक्षा करने के बाद साहित्यपीडिया पर प्रकाशित की जाएँगी।

आज ही अपनी हिंदी साहित्यिक पुस्तक का विवरण भेजें।

Author
Sahityapedia
Sahityapedia
Recommended Posts
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है मगर छन भी आती कहीं रोशनी है न करती लबों से वो शिकवा शिकायत मगर बात नज़रों से... Read more
आस!
चाँद को चांदनी की आस धरा को नभ की आस दिन को रात की आस अंधेरे को उजाले की आस पंछी को चलने की आस... Read more
आहिस्ता आहिस्ता!
वो कड़कती धूप, वो घना कोहरा, वो घनघोर बारिश, और आयी बसंत बहार जिंदगी के सारे ऋतू तेरे अहसासात को समेटे तुझे पहलुओं में लपेटे... Read more
अभी पूरा आसमान बाकी है...
अभी पूरा आसमान बाकी है असफलताओ से डरो नही निराश मन को करो नही बस करते जाओ मेहनत क्योकि तेरी पहचान बाकी है हौसले की... Read more