अपनी सहूलियत

हम सब सहूलियत
के हिसाब से ही चलते है
हम सब सहूलियत
के हिसाब से ही सोचते है
हम सब सहूलियत
के हिसाब से ही बोलते है ।।

अगर राह हो मुश्किल
तो कहते है किसी और को
भी मौका मिलना चाहिए
जो लगे राह आसान
तो स्वयं करके उदाहरण
प्रस्तुत करना चाहिए
दोनों ही बातें सही है अपनी
सहूलियत के हिसाब से ।।

कोई काम करना पड़े
खुद तो सबसे सरल
तरीका ढूंढा जाता है
जो काम दूसरों से करवाना
हो तो सबसे जटिल उपयुक्त
तरीका सुझाया जाता है
दोनों ही बातें सही है अपनी
सहूलियत के हिसाब से ।।

गलती अपने बच्चे की हो तो
बच्चों से गलती हो जाती है
गलती दूसरों के बच्चों से हो
तो वो शरारती कहलाता है
दोनों ही बातें सही है अपनी
सहूलियत के हिसाब से ।।

अगर बात हो कोई अपने
मतलब की तो उसके लिए
रास्ता तुरंत निकाला करते है
जो ना हो कोई फायदा खुद को
तो नुक्स निकाल कर उसको
और बेहतर करने के नाम पर
जानबूझ कर विलंब करते है
दोनों ही बातें सही है अपनी
सहूलियत के हिसाब से ।।

7 Likes · 3 Comments · 64 Views
You may also like: