मुक्तक · Reading time: 1 minute

अपना

हम उन्हें अपना कहते रहे
पर वो हमारे न हुए।
हम गलबहियां करते रहे
वो धोखा देते गये।
अब आंखें खुल गयीं और
वो नजरों से गिर गये।।

32 Views
Like
1 Post · 32 Views
You may also like:
Loading...