.
Skip to content

अनुमान प्रमाण

guru saxena

guru saxena

घनाक्षरी

August 18, 2017

घनाक्षरी छंद
अनुमान प्रमाण अलंकार

संभव है किसी दिन ऐसी कोई आंधी चले,
कट्टर विचारों वाले पीले पत्ते झड़ेंगे।
ज्वालामुखी शांत होंगें भाँति भाँति प्रान्त होंगे,
अटल सिद्धांत होंगे ले तिरंगा बढ़ेंगे।
कश्मीर का विधान संविधान में मिलेगा,
हिंदू-मुस्लिम एकता का पाठ पढ़ेंगे।
लगता है बनारस क्षेत्र छोड़कर मोदी,
कराँची से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे।

गुरु सक्सेना नरसिंहपुर मध्य प्रदेश

Author
guru saxena
Recommended Posts
दोहे
जीवन मे माँ से बडा और नही वरदान माँ चरणों की धूल ले खुश होंगे भगवान। 2 भारत की गरिमा बचा कर के सोच विचार... Read more
राजयोग महागीता:: तृष्णा, स्वार्थ, वासनाएँ, दम्भ( पो८)
राजयोग महागीता:: घनाक्षरी: गुरनक्तानुभव ( अध्याय१) तृष्णा, स्वार्थ- वासनाएँ, दम्भ , द्वेष, छल जैसे, विषयों को विष की भाँति त्याग , सद्कार्य है । दैहिक... Read more
भूली बिसरी यादें
भूली बिसरी यादें सफर जिंदगी का,कुछ ऐसा ही है कुछ मिले होंगे,कुछ छूटे भी होंगे मजा तो यारों की,महफिल में है कुछ सच्चे होंगे, कुछ... Read more
हाय!
आशिक़ों के जो निकले दम होंगे हुस्न के यूँ भी क्या सितम होंगे यूँ बढ़ाओगे बात जीतनी ही बात में उतने पेचो ख़म होंगे हो... Read more