अनलॉक - 3.0"

“अनलॉक – 3.0”

स्वयं से प्यार तु कर,
अपनों की परवा तू कर,
आगमन हुआ अनलॉक 3:0 का,
जाग, वक्त का मान तू कर,
दिशा निर्देशों की पालना से,
रोग प्रतिरोधक क्षमता का, ध्यान तू कर ,
संक्रमण ग्राफ बढ़े नहीं,
चिंता जान-जहान की तू कर।

©️✍
अरुणा डोगरा शर्मा,
पंजाब।

Like 5 Comment 2
Views 15

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share