31.5k Members 51.9k Posts

अतीत

ख़ुद के लिए एक अनजानी सी कहानी हो गया हूं मै,
या तो खुद को खो दिया या खुद को भूल गया हूं मैं,
हर पल अतीत के भंवर में फस सा जाता हूं,
खुद को कल बनाने के लिए आज मिटाता हूं,
है सब साथ मेरे बस कोई मेरा मीद नहीं,
उम्मीद है तो गर कोई उम्मीद नहीं,
अब जब अतीत में जागकर अभी सो गया हूं मैं, तब
ख़ुद के लिए एक अनजानी सी कहानी हो गया हूं मै,
या तो खुद को खो दिया या खुद को भूल गया हूं मैं,
✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️राज सेजवार

2 Likes · 1 Comment · 9 Views
राज सेजवार
राज सेजवार
2 Posts · 14 Views
You may also like: