अच्छा होता

जो तुम पहले ही दिल की बात बताते , तो अच्छा होता
वो पहली नज़र में तुम मुस्कुराते , तो अच्छा होता ।।

यू तो चाँद सितारे सभी मौजूद थे यहां
मग़र तुम भी छत पर आते , तो अच्छा होता ।।

माना हो गयी देरी मुझे तुमसे कहने में
फिर भी पहले तुम हाथ बढ़ाते , तो अच्छा होता ।।

वक़्त पर ध्यान से देते हो पौधों को पानी
कुछ बूंदे हम पर भी गिराते , तो अच्छा होता ।।

मैं निकला था घर से तुम्हे मिलने के लिए
तुम भी मेरी ओर चलकर आते , तो अच्छा होता ।।

– चिंतन जैन

4 Views
Chintan Jain
Chintan Jain
Pirawa ( rajsthan )
47 Posts · 342 Views
अपनी हार में भी जीता रहूंगा मैं हमेशा एक विजेता रहूंगा ।। Www.Instagram.com/chintan_uphar
You may also like: