Skip to content

अगर तुमसे मिलने की

कृष्णकांत गुर्जर

कृष्णकांत गुर्जर

गज़ल/गीतिका

January 22, 2017

अगर तुमसे मिलने की तमन्ना न होती ,    
हमारे यूँ दिल मे हलचल न होती……..

जीवन मे अपनो  की जरूर न होती ,
प्यारी सी दुनिया खूबसूरत न होती…….

याद तुम्हारी यूँ सताती न होती,
तुम्हारे लिये यूँ चाहत न होती…

कृष्णा को मिलने की चाहत नहोती,
तो दीपक मे प्यारी बाती न होती…….
कृष्णकांत गुर्जर धनौरा

Author
कृष्णकांत गुर्जर
संप्रति - शिक्षक संचालक G.v.n.school dungriya G.v.n.school Detpone मुकाम-धनोरा487661 तह़- गाडरवारा जिला-नरसिहपुर (म.प्र.) मो.7805060303
Recommended Posts
वादा
किसी मोड़ पर ना तुमसे मिलूंगी, चलो ये भी वादा किया आज तुमसे.. कहा था कभी के उफ़ ना करुंगी, विष भी तो हँस-हँस पिया... Read more
??तुमसे मिलने आये है??
??तुमसे मिलने आये है?? अरमानो के दीप जलाकर तुमसे मिलने आये है,,,, ख्यालो के पुलाव पकाकर तुमसे मिलने आये है,,,, बेचैनी है इस दुनिया में,,... Read more
ग़ज़ल :-- तुझे पाने की चाहत में !
ग़ज़ल :-- तुझे पाने की चाहत ! गजलकार :– अनुज तिवारी तुझे पाने की चाहत में मेरी दुनियाँ उजड जाये ! प्यार की गुफ्तगू तुमसे... Read more
कुछ शब्द~१४
(१) तेरी रिफ़ाक़त की ख़्वाहिश लिए जीते है अगर ये पूरी हो जाए तो जाने क्या हो *रिफ़ाक़त= companionship, साथ (२) चलो पोंछते है आँसू... Read more