.
Skip to content

अक्सर दर्द देती हैं जुदाई प्यार होने के बाद

Akib Javed

Akib Javed

कविता

November 9, 2017

जिंदगी में बस वक्त दो ही गुज़रे हैं कठिन
एक तेरे आने से पहले,एक तेरे जाने के बाद

ख्वाइश नही थी कुछ भी खो जाने के बाद
क्यू फिर लौट के वापस आये जाने के बाद

सर्द रातो को जाग कर ही गुज़ार दी हमने
तपन की जरूरत होती हैं ठण्ड बढ़ जाने के बाद

तमन्ना थी यूं हवाओ से टकराने की
चरागों को जलाया था अब तुफानो के बाद

चेहरे की मुश्कुराहट जरूरी हैं सुखन के लियें
गिले शिकवे मिटा लो दिल की कड़वाहट के बाद

ना कोई चुभन थी ना ही कशिश दिल में
ना कुछ याद आये अब भूल जाने के बाद

रफ्ता रफ्ता गुज़र रही हैं ये जिंदगी
फिर मिले जिंदगी गुजर जाने के बाद

मयस्सर नही तुमसे यूँ मिलकर बिछड़ जाना
अक्सर दर्द देती हैं जुदाई प्यार हो जाने के बाद!!

-आकिब जावेद

Author
Akib Javed
कुछ लिखना चाहता हूँ,सोचता हूँ,शब्दो से खेलता हूँ,सीखता हूँ,लिखता हूँ।।
Recommended Posts
रूठा यार
रूठा मेरा यार,न जाने क्योँ? छोड़ा मेरा साथ, न जाने क्यों? रोयें जज्बात,न जाने क्यों? बिना बात की बात,न जाने क्यों? दिल तो था उदास,... Read more
खुश्बू-ए-गुल को हवाओं  से मिल जाने दे
खुश्बू-ए-गुल को हवाओं से मिल जाने दे रम जाने दे ज़रा सा और रम जाने दे दुनियाँ से ले जाएगा ये रोग इश्क़ का लग... Read more
तेरे प्यार में डूब जाने को जी करता है
आज फिर तेरे प्यार में डूब जाने को जी करता है, तुझसे मिल कर बिछड़ जाने को जी करता है। यूंँ तो तेरी खुशियों पर... Read more
न जाने कब तेरे...
न जाने कब तेरे जलवों में रवानी आयी, न जाने कब तेरी सैलाब पर जवानी आयी, हमें तो होश ही कब था तेरे होंठों से... Read more