*"अंतर्मुखी बहिर्मुखी "*

*”अंतर्मुखी बहिर्मुखी”*

*”नदियाँ”*
नदियाँ पहाड़ों चट्टानों से टकराकर ,
बाधाओं को पार कर *अंतर्मुखी* हो जाती।
इठलाती बलखाती ,तेज धाराओं में बहते हुए *बहिर्मुखी* हो जाती।
🌊🌊🌊🌊🌊🌊🌊🌊
प्रकृति का वरदान कलकल छलकती,
शुद्ध जलधारा *अंतर्मुखी* बन जाती।
नदियाँ तेज धाराओं में जब उफनती ,
रौद्र रूप धारण कर *बहिर्मुखी* बन जाती।
🌊🌊🌊🌊🌊🌊🌊🌊
गंगोत्री ,यमुनोत्री, नर्मदेश्वर ,देव तुल्य पूज्यनीय *अंतर्मुखी* कहलाती।
सुनामी लहरों बाढ़ ,प्राकृतिक आपदाओं में *बहिर्मुखी* कहलाती।
🌊🌊🌊🌊🌊🌊
*शशिकला व्यास*✍

1 Like · 1 Comment · 20 Views
एक गृहिणी हूँ मुझे लिखने में बेहद रूचि रखती हूं हमेशा कुछ न कुछ लिखना...
You may also like: