Skip to content

कुमारी अर्चना जिला-पूर्णियाँ,बिहार
विधा-छंदमुक्त, रस-श्रृंगार,करूण, मैं कविता,क्षणिकाएँ,दोहा,मुक्तक,हाईकु,गीत लिखती हूँ, "मेरी कविता मेरी कल्पना मात्र नहीं,यह मेरे हृदय से निकली भावना है,जो मेरी आत्मा तक को छूती है" ! मेरी अब तक विभिन्न पत्र व पत्रिकाओं में मेरी रचनाएँ प्रकाशित हो चुकी है,मेरी कई साझा काव्य संग्रह जल्दी आने वाली है !

All Postsकविता (2)