.
Skip to content

प्रदूषण मुक्त हो भारत सुमन मुस्कान खिल जाए

Dr Archana Gupta

Dr Archana Gupta

मुक्तक

June 18, 2016

लगाओ पेड़ धरती पर गगन सी छाँव मिल जाए
यहाँ फिर देख हरियाली हमारा झूम दिल जाए
भँवर भी गुनगुनायें पक्षियों की चहचहाहट हो
प्रदूषण मुक्त हो भारत सुमन मुस्कान खिल जाए

डॉ अर्चना गुप्ता

Author
Dr Archana Gupta
Co-Founder and President, Sahityapedia.com जन्मतिथि- 15 जून शिक्षा- एम एस सी (भौतिक शास्त्र), एम एड (गोल्ड मेडलिस्ट), पी एचडी संप्रति- प्रकाशित कृतियाँ- साझा संकलन गीतिकालोक, अधूरा मुक्तक(काव्य संकलन), विहग प्रीति के (साझा मुक्तक संग्रह), काव्योदय (ग़ज़ल संग्रह)प्रथम एवं द्वितीय प्रमुख... Read more
Recommended Posts
??पौधा लगवाते जाएँ??
हर जन दूजे तक मेरी बात पहुंचाते जाए। चार पौधे जीवन में लगा वृक्ष बनाते जाए।। पर्यावरण प्रदूषण पर करें निरंतर चिंतन। लाभ-हानि, परिणाम भविष्य... Read more
ग़ज़ल
ख़ूब़सूरत ग़ुनाह हो जाए। दिल ये उन पै तब़ाह हो जाए। फ़लसफ़े छोड़ दो अरे वाइज़, द़ीद की जो पनाह़ हो जाए । मेरा तेरे... Read more
सफ़र आसान हो जाए
गुमनाम राहो पर एक नयी पहचान हो जाए चलो कुछ दूर साथ तो, सफ़र आसान हो जाए|| होड़ मची है मिटाने को इंसानियत के निशान... Read more
मानवता ही एक मात्र धर्म
. अब तो मज़हब कोई ऐसा भी चलाया जाए इंसानियत को जात धर्म में न बनाया जाए आपसी प्रेम इतना गहरा हो पड़ोसी रहे दंग... Read more