.
Skip to content

??◆ यारी यार की◆??

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

कविता

April 21, 2017

याराना यार का मौसम ये बहार का।
फूले-फले दोस्ती मिले सुख प्यार का।।

यार तोहफ़ा है ये क़िस्मत से मिलता।
दीप उजाला बनता जैसे घर-बार का।।

यारी खज़ाना है कुबेर से बड़ा दोस्त।
जिसे मिला सीखे गुण वो एतबार का।।

वक्त बदले पर यार नहीं बदले अगर।
यार वही है एक सुनिए व्यवहार का।।

दूर रहे पर मिलने की ख़्वाहिश करे।
दीया जले नयन यार के दीदार का।।

कृष्ण-सुदामा का उदाहरण हृदय-पले।
गम कोसों दूर रहेगा हयाते-भार का।।

दिल खिले जब भी मिले दिल दिलसे।
भरदे दिल दिल में सार सब शृंगार का।।

एक-दूसरे का सुख-दुख अपना समझे।
मिले उजाला जीवन में तब संसार का।।

फूल-ख़ुशबू सरिस मिलजुल रहें हम यहाँ।
चमन बने संसार फिर परवर-दिगार का।।

“प्रीतम”तेरी ये प्रीत सादगी की मूरत है।
करे रंगो-बू-सा असर किसी गुलज़ार का।।
************
************
राधेयश्याम….बंगालिया….प्रीतम….कृत

Author
Recommended Posts
आज की यारी (हरियाणवी)
आड़े कौन किसका दोस्त स, सब मतलब के ऐ यार सं, यारी दोस्ती के नाम प लोग करैं आजकाल व्यापार सं। जब ताहीं गरज रहवै... Read more
गज़ल :-- मुझको पाने की इबादत की थी मेरे यार नें ॥
गज़ल :-- मुझको पाने की इबादत की थी मेरे यार नें ॥ बहर :- 2122-2122-2122-212 माँग लूँ उसको खुदा से दे के बदले जान भी... Read more
५) यार
यार, और रार, नहीं अब जमाने में, वक़्त का तक़ाज़ा हैं यार, और रार जमानें में । ऑंखें दिखती नहीं चश्मों के नीचे, शीशों के... Read more
[[ है   प्यार    मेरे    यार  ना    इनकार    करेंगे ]]
? है प्यार मेरे यार ना इनकार करेंगे करते हैं तुझे प्यार सदा प्यार करेंगे १ #हुस्ने_मत्ला हम प्यार तुम्हें यार बेशुमार करेंगे फिर लोग... Read more