.
Skip to content

“कार्यकुशलता”

Punam Sinha

Punam Sinha

लघु कथा

May 7, 2017

जिला में मतदाताओं के लिए “ईपिक”(मतदाता पहचान पत्र)बनाने का कार्य आरम्भ होना था।सतीश झा कार्य कुशल अधिकारी थे।उन्हें निर्वाचन प्रभारी बनाया गया।उनके निर्देशन में ईपिक का कार्य जोर शोर से आरम्भ हुआ।
लगभग अस्सी प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका था।अथक प्रयास के बावजूद तय समय में पूर्ण होने की संभावना बहुत कम थी क्योंकि
अनेक मतदाता की तस्वीर उपलब्ध नहीं हो पाई थी।
नियत समय में किस प्रकार कार्य पूर्ण हो,झा साहब बहुत परेशान थे।
अचानक उनके दिमाग में विचार कौंधा।
डाटा ऑपरेटरों के साथ गोपनीय बैठक की।
“चौबीस घंटे शेष है,जो भी मतदाताओं की तस्वीर उपलब्ध नहीं है,उस पर अधूरी जानकारी वाली निरस्त फार्म से तस्वीर निकाल कर चिपका दें।”
निर्देश मिलते ही तेजी से आदेश का पालन किया गया।आनन-फानन में नाम किसी का,तस्वीर किसी और का चिपका दिया गया।महिला के नाम पर पुरूष की तस्वीर,पुरुष के नाम पर महिला की तस्वीर चिपका दी गई।जैसे तैसे कार्य निपटाया गया।
झा साहब को शत प्रतिशत सफलतापूर्वक कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया।

Author
Punam Sinha
Recommended Posts
अभी पूरा आसमान बाकी है...
अभी पूरा आसमान बाकी है असफलताओ से डरो नही निराश मन को करो नही बस करते जाओ मेहनत क्योकि तेरी पहचान बाकी है हौसले की... Read more
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 मदयुक्त भ्रमर के गुंजन सी, करती हो भ्रमण मेरे उर पर। स्नेह भरी लतिका लगती , पड़ जाती दृष्टि जभी तुम पर।। अवयव की... Read more
मै भी भीग जाऊँ!!
मैं भी भीग जाऊँ। ........................ सोचता हूँ एकबार मैं भी भीग जाऊँ। इस बरसात प्रिय के साथ घनी जुल्फों की छाव में प्रियतम की बाहों... Read more
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है मगर छन भी आती कहीं रोशनी है न करती लबों से वो शिकवा शिकायत मगर बात नज़रों से... Read more