Skip to content

*** आओ मनाएँ भारतीय नव वर्ष ****

Neeru Mohan

Neeru Mohan

कविता

March 18, 2017

*चैत्र, वैशाख, जेष्ठ,आषाढ़
है सुना किसी ने इनका नाम
नहीं सुना तो आज बताती
सार्थकता इनकी भारतवासी को आज

*यह नाम नहीं साधारण
सुन लो सभी जन यह आज
हिंदी महीनों के यह है नाम
चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़

*पता सभी को यही है बस
शुरू होता नव वर्ष
एक जनवरी से बस
एक जनवरी को नया साल
सभी मनाते
चैत्र को हम सब भूल हैं जाते

*चैत्र से शुरू होता है
हिंदु नव वर्ष
फागुन बारहवाँ माह है कहलाता
होली के जाते ही लोगों
हिंदु नव वर्ष आगमन कर जाता

*जैसे दिवाली, दशहरा, होली,
राखी, तीज, गणगौर मनाते हो
फिर क्यों हिंदु नया साल भूलकर
नया साल सिर्फ अंग्रेजों वाला ही
क्यों मनाते हो ?

*याद सभी यह रखना आज से
केसरिया भगवा झंडा
ऊपर लगाना घर के
खीर और पूड़ी बनाकर
हिंदु नव वर्ष सभी भारतवासी तुम
इसी साल से मनाना मिलकर के

*विदेशी नव वर्ष यह कैसा हर्ष
आओ मनाएँ भारतीय नववर्ष
आओ मनाएँ भारतीय नववर्ष |||||

Author
Neeru Mohan
व्यवस्थापक- अस्तित्व जन्मतिथि- १-०८-१९७३ शिक्षा - एम ए - हिंदी एम ए - राजनीति शास्त्र बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान एम फिल - हिंदी साहित्य कार्य - शिक्षिका , लेखिका friends you can read my all poems on... Read more
Recommended Posts
भारत का नव वर्ष
चैत्र शुक्ल की प्रतिपदा,करे सतत उत्कर्ष ! आता है इस रोज ही,भारत का नव वर्ष !! नये वर्ष का देश में,करें खूब सत्कार ! दरवाजे... Read more
हैप्पी न्यू ईयर नहीं हिन्दू नव वर्ष
हैप्पी न्यू ईयर नहीं हिन्दू नव वर्ष हम भारतीयों को हमारी संस्कृति, सभ्यता विरासत में मिली है । हमारी हिन्दू संस्कृति, सभ्यता सर्वश्रेष्ठ है, विश्व... Read more
नव वर्ष मुबारक
ऊषा की पहली किरण मुस्कराई आज फिर एक नया सबेरा लाई कुछ नई सौगाते और सपने साथ लाई कण कण मे उजाला भरती हुई आई... Read more
कविता
नये वर्ष मे असंख्य खुशियँ मस्तियाँ, अपने मे समेटे, धरती पे बिखराने ! आय है नया वर्ष आज तो बस नई सुबह है नई किरणका,... Read more